शनिवार, अगस्त 28, 2010

सांस-सांस हिसाब

 देना होगा तुम्हें
हर सांस का हिसाब
किस दिन
किस नथुने से ली
और किससे छोड़ी बाहर.
इससे कोई मतलब नहीं
कि कितनी ऑक्सीजन थी तुम्हारे  हिस्से में
लेकिन हाँ, तुम्हें देना होगा हिसाब
सीओटू के अलावा भी तो नहीं था कुछ
तुम्हारी सांसों में।
- राकेश मालवीय

1 टिप्पणी:

गुड्डा गुडिया ने कहा…

लेकिन हाँ, तुम्हें देना होगा हिसाब
सीओटू के अलावा भी तो नहीं था कुछ
तुम्हारी सांसों में।

bahut khoob likha hai sir .......
badhai ho