गुरुवार, नवंबर 11, 2010

संघ से सवाल


दोस्त अजीत सिंह ने अपने ऑरकुट स्क्रैप के माध्यम से यह सवाल छोड़े हैं. गौर करें.

बीते दिनों बम विस्फोटो में राष्ट्रीय  स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओ के नाम आने से इतना बबाल हुआ कि अपने सदस्यों के बचाव में संघ को पूरे देश में अपनी स्थापना के बाद पहली बार सड़क पर उतरकर धरने प्रदर्शन जैसे कार्यक्रम आयोजित करना पड़ा. संघ का कहना है कि उसके कार्यकर्ताओ को फंसाया जा रहा है और वो इसका विरोध करेगा.
एक आम भारतीय की तरह मेरे दिमाग मे भी कुछ सवाल उमड़ रहे हैं जो मैं संघ से पूछना चाहता हूँ.-


1) क्या संघ का सदस्य होना किसी व्यक्ति के अपराधी ना होने का प्रमाण पत्र है ?


2) कोई भी व्यक्ति संघ में सिर्फ उसके उद्देश्यों से प्रभावित होकर शामिल होता है क्या गारंटी है कि अपनी राजनीतिक  महत्वाकांक्षा और निजी स्वार्थो के लिए नहीं ?


3) बम विस्फोट जैसे कृत्य देश को नुकसान पहचाने वाले होते हैं, तो किस आधार पर खुद को राष्ट्रवादी होने का दावा करने वाला संघ इस कृत्य के आरोपियों के समर्थन में खड़ा होकर देश भर में धरने प्रदर्शन कर देता है ?


4) देश की जाँच एजेंसिया साक्ष्यो के आधार पर किसी पर आरोप लगाती हैं, क्या संघ के पास इन साक्ष्यो का जवाब है ?


5) किसी भी संगठन के कार्यकर्त्ता की निजी जिन्दगी होती है जिसकी निगरानी कोई भी संगठन नहीं कर सकता, क्या संघ दावा कर सकता है की उसका कोई भी सदस्य अपने निजी जीवन में किसी तरह की आपराधिक गतिविधियों में लिप्त नहीं है ?


6) क्या संघ ने अपने स्तर पर कोई जाँच की है जिससे साबित हो कि उसके कार्यकर्त्ता निर्दोष हैं ?
अगर संघ से जुड़े व्यक्ति उन सवालों को देंखे तो कृपया आम भारतीयों के दिमाग में उठ रहे इन सवालों का जवाब दें. जय हिंद. 

1 टिप्पणी:

Raju Neera ने कहा…

jawab hota to huddang kyon karte. waise apke swalon ka jwab han men mil jaye tosare apradhi usmen shamil ho jayenge.