शुक्रवार, सितंबर 21, 2018

पिता—पुत्र संवाद— 1

पापा...!
हां बेटा
आपको कौन सा दिन सबसे गंदा लगता है ?
कोई सा दिन नहीं बेटा, सब दिन अच्छे लगते हैं.
पर यह क्यों पूछ रहे हो बेटा ?
कुछ नहीं पापा !
तुम्हें कौन सा दिन सबसे गंदा लगता है बेटा ?
जब गणेशोत्सव में सुंदरकांड होता है !
वो क्यों बेटा ?
क्योंकि हमें उस दिन लंगूर का स्थान दिया जाता है पापा !
तो बेटा !!!
और लड़कियों को कन्याओं का !!!
लड़कियों को जलेबी खिलाई जाती है लंगूरों को नहीं !!!
हां बेटा ???
लड़कियों को भी बंदरिया का स्थान दिया जाना चाहिए पापा !!!



कोई टिप्पणी नहीं:

खतरनाक ‘सफाया’

होशंगाबाद (मध्यप्रदेश) से राकेश कुमार मालवीय होशंगाबाद जिले के गांवों में इन दिनों हर किसी की जुबान पर ‘सफाया’ शब्द है। यह शब्द एक दवाई के...