बुधवार, अक्तूबर 10, 2012

GUD NEWS चलाती है मर्दों का सैलून, अब भिेड़ेगी मैरीकॉम से

विनोद शर्मा की खबर।
इसे यहां विस्तार से पढ़ सकते हैं
http://www.bhaskar.com/article/c-16-477410-3904959.html

परिस्थितियों ने उसे सैलून पर काम करने को मजबूर कर दिया पर दिल में कुछ और ही करने का जज्बा था, इसलिए बन गई मुक्केबाज। अपने दम—खम से नेशनल चैम्पियनशिप तक पहुंची यह गरीब की बेटी अब ओलंपिक पदक विजेता एमसी मैरीकॉम से भिड़ने जा रही है।

आखिर नक्सल प्रभावित एक गांव में रहने वाली लड़की ने कैसे किया कमाल। जानना नहीं चाहेंगे आप !

चिपांवड ग्राम की युवती सुनीता सेन अपने गांव में मर्दों का सैलून चलाती हैं। पिता की लंबी बीमारी के कारण उसे हाथ में कैंची उस्तरा लेकर दुकान पर आना पड़ा। सुनीता का परिवार बेहद गरीब है। गांव मे रहकर सेलून चला मर्दो की दाढ़ी से लेकर बाल बना रही है। इस कार्य मे उसे कोई झिझक नहीं, लोग जहां शहरो मे ऐसा कार्य करने से झिझकते है। सुनीता ने मुक्केबाजी का सफर स्कूली पढ़ाई के दौरान किया। भिलाई में स्टेट लेवल चैम्पियनशिप में पहला स्थान हासिल किया।

सुनीता की खुशी का ठिकाना नहीं रहा जब 9 अक्टूबर को रायपुर खेल कमिश्नर रामकुमार देवांगन का फोन आया। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ की खेल एवं युवा कल्याण मंत्री सुश्री लता उसेंडी और लोक निर्माण मंत्री बृजमोहन अग्रवाल मिलना चाहते है। राज्य उत्सव मे उसे ओलंपिक मुक्केबाजी मे रजत पदक की विजेता मेरीकाम के साथ मैच भी खिलाया जाएगा।

इस खबर से इतनी खुश हुयी युवती सुनीता सेन की आंखो से आंसू छलक गये और रूंधे गले से भास्कर की इस खबर के लिये पूरे भास्कर परिवार को बधाई दी सुनीता सेन आज रायपुर रवाना होगी।

साभार:  दैनिक भास्कर डॉट कॉम

कोई टिप्पणी नहीं: