बुधवार, जनवरी 13, 2010


झाबुआ जिले के काकनवानी बाजार में पुलिस के हाथ जोड़ता एक आदिवासी. माजरा क्या है आप खुद ही समझें.  

कोई टिप्पणी नहीं: