बुधवार, अक्तूबर 15, 2008

स्कूल चले हम

मध्य प्रदेश के स्कूलों के हालात। सुबह के ११ बज रहे हैं और मास्टरजी का पता नहीं । होशंगाबाद जिले के पीपल ढाना गोंव के इस प्राथमिक स्कूल की पतवार एकमात्र गुरूजी के हवाले है। वे आ गए तो ठीक नहीं तो बच्चे इन्तेजार ही करते रह जाते हैं। कमोबेश ऐसी ही हालत अन्य गावों में भी है।

कोई टिप्पणी नहीं: