मंगलवार, अप्रैल 22, 2008

पटियेबाजी

पटियेबाजी भोपाल में वैसा ही रुतबा रखती है जैसे की राजा भोज द्वारा बनाई गई झील। पुराने शहर की तंग और संकरी गलियों मे यहाँ घंटों गली मोहल्लों से लेकर देश दुनिया की तमाम चर्चाएं होती हैं। गंभीर मुद्दें हों या फ़िर मल्लिका शेरावत स्टाइल की खबरें पटीये के कद्रदानों ने किसी को नहीं छोड़ा । भोपाल की अपने किसम की यह परम्परा दूर तलक मशहूर है। बहरहाल भोपाल शहर का यह पटिया अब ऑनलाइन हो चुका है। इस ई-पटिये पर आपका स्वागत है...

कोई टिप्पणी नहीं: